Sale!

पाइल्स पैक

830.00 664.00

पाइल्स के लिए आयुर्वेदिक औषधि का उपयोग:

पाइल्स (बवासीर) और फिशर (गुदाचीर या अर्श) के इलाज में सहायक

खुराक: हर्बोपाइल – भोजन के बाद दिन में तीन बार 1 गोली; कबज पिल्स – रात के भोजन के बाद 2 गोलियां ; निर्गुंडी तेल – प्रभावित हिस्से पर लगाएं

पाइल्स के लिए आयुर्वेदिक औषधि का परिचय:

आप सभी जानते हैं कि, आंतों को बिना प्रयास के सहज खाली करना स्वस्थ जीवन के महान सुखों में से एक है। हालांकि, ऐसा भी समय आता है जब पाइल्स (बवासीर) और फिशर्स (गुदाचीर या अर्श) जैसी बीमारियां अचानक हमें चपेट में लेकर हमारे जीवन को मुश्किल बनाती हैं। ऐसे में डॉ वैद्य का पाइल्स पैक बचाव के लिए उपलब्ध है। पाइल्स के लिए 3 प्रभावी आयुर्वेदिक दवाओं के मिश्रण के रूप में यह पैक एक महीने तक उपयोग किये जाने के हिसाब से तैयार किया गया है।

Ayurvedic Medicine for piles
1 × HERBOpile (30 pills X 3)
450.00
Ayurvedic Pain Relief Oil
1 × Nirgundi Joint Guard (100ml X 1)
200.00
ayurvedic medicine for constipation
1 × Kabaj Pills (30 pills x 1)
180.00

आप सभी जानते हैं कि, आंतों को बिना प्रयास के सहज खाली करना स्वस्थ जीवन के महान सुखों में से एक है। हालांकि, ऐसा भी समय आता है जब पाइल्स (बवासीर) और फिशर्स (गुदाचीर या अर्श) जैसी बीमारियां अचानक हमें चपेट में लेकर हमारे जीवन को मुश्किल बनाती हैं। ऐसे में डॉ वैद्य का पाइल्स पैक बचाव के लिए उपलब्ध है। पाइल्स के लिए 3 प्रभावी आयुर्वेदिक दवाओं के मिश्रण के रूप में यह पैक एक महीने तक उपयोग किये जाने के हिसाब से तैयार किया गया है।

हर्बोपाइल पाइल्स के लिए अत्यधिक भरोसेमंद आयुर्वेदिक औषधियों में से एक है, जिसका उद्देश्य आपको अंतड़ियों के बाधारहित गतिशीलता (मूवमेंट) प्राप्त करने में मदद करना है। यह ध्यान में रखते हुए कि पाइल्स का मूल कारण अपचन और कब्ज है, इस औषधि में ऐसे घटकों को शामिल किया गया है, जिनमें उच्च घुलनशील फाइबर पाया जाता है। इसके अलावा इस पाइल्स औषधि को इस तरह तैयार किया गया है कि यह एसिडिटी और गैस बनने से रोकती है और गैस्ट्रिक परेशानियों को नियंत्रित करने में मदद करती है।

निर्गुंडी तेल दर्द में राहत प्रदान करनेवाला एक आयुर्वेदिक तेल है, जिसे निर्गुंडी के अर्क से परिष्कृत 3 तेलों का उपयोग करके बनाया गया है, जो पाइल्स पिंड के आकार को कम करने में मदद करता है, जिसके चलते इससे संबंधित दर्द और असुविधा से छुटकारा मिलता है।

कबज कब्ज के लिए सर्वश्रेष्ठ औषधि है, जो आंतों की गतिशीलता (मूवमेंट) को उत्तेजित करती है और कब्ज के चलते होनेवाली पीड़ा और असुविधा से तत्काल राहत प्रदान करती है। ऐसे में चयापचय में सुधार लाकर यह औषधि शरीर को बेहतर दिनचर्या के अनुरूप ढलने में मदद करती है।

इस स्वास्थ्य पैक का पूरा लाभ उठाने के लिए आपको आग्रहपूर्वक सलाह दी जाती है कि अपने खान-पान में कुछ परिवर्तन लाएं, जो पाइल्स के लिए प्राकृतिक उपचार के रूप में कार्य करते हैं। उदाहरण के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं, उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें और आहार में प्रोबियोटिक खाद्य पदार्थों को शामिल करें तथा नियमित व्यायाम करें। तो हमारे ऑनलाइन आयुर्वेदिक स्टोर पर इस विशेष पाइल्स पैक के लिए अपना ऑर्डर देने से पहले और इंतजार न करें।

नोट : हम इन उत्पादों का उपयोग करने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक के साथ परामर्श कर लेने की सलाह देते हैं, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति और शरीर अनूठा होता है। हमारे आंतरिक चिकित्सक से नि: शुल्क परामर्श के लिए कृपया हमें +919820291850 पर कॉल करें या हमें care@drvaidyas.com पर ईमेल करें।

हर्बोपाइल

10-15 साल के लिए उम्र के लिए – भोजन के बाद दिन में तीन बार 1 गोली

15 साल और उससे ऊपर के लिए- भोजन के बाद दिन में तीन बार 1 गोली

निर्गुंडी जॉइंट गार्ड

इसे प्रभावित हिस्से पर लगाएं और जोड़ों के दर्द से प्रभावी राहत के लिए धीरे-धीरे मालिश करें।

कबज पिल्स

10 वर्ष और उससे अधिक उम्र के लिए : बिस्तर पर जाने से पहले 2 गोलियां

हर्बोपाइल

लेमबोड़ी

आयुर्वेद में नीम के बीज को लेमबोड़ी या निंबोली कहा जाता है। इसे उच्च घुलनशील फाइबर सामग्री के लिए जाना जाता है, यह मल को नरम कर मलमार्ग को आसानी से साफ करने में सहायक है, और इसी कारण यह वजन प्रबंधन में मददगार है।

बकायनफल  

इसे कृमिनाशक (एंथेलमिंटिक) गुणों के लिए जाना जाता है, बकायनफल रक्त के विषहरण (डिटॉक्सिफिकैशन) में मदद करता है।

हरडचाल

यह अपने प्रदाहरोधी (एंटी-इन्फ्लैमटॉरी) गुणों के लिए विख्यात है। हरडचाल को अपचन और कब्ज से राहत प्रदान करने के लिए जाना जाता है।

रसवंती

इसे रसौत (हूजुज) के रूप में भी जाना जाता है। यह जड़ी बूटी न केवल घावों को ठीक करने में मदद करती है बल्कि दर्द से राहत भी प्रदान करती है।

नागकेसर

प्रकृति में एंटी-पेप्टिक, नागकेसर पाचन प्रक्रिया की सहायता करने में प्रभावी माना जाता है।

गांधनाबीज

यह प्राचीन आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी फोड़े (ऐब्सेस) और दस्त (डायरिया) सहित कई बीमारियों से छुटकारा दिलाने में उपयोगी है।

 

निर्गुंडी

जैसा कि नाम से स्पष्ट है, निर्गुंडी जॉइंट गार्ड में मुख्य रूप से बहु-उद्देशीय और बहु-उपयोगी जड़ी-बूटी निर्गुंडी शामिल है। यह जड़ी-बूटी एक वातशामक द्रव्य के रूप में कार्य करती है, जो जोड़ों के विभिन्न प्रकार के दर्द से राहत प्रदान करने के लिए जानी जाती है।

 

कब्ज पिल्स

सोनामुखी

इसे भारतीय सनाय के रूप में भी जाना जाता है। यह एक प्रमुख रेचक के रूप में कार्य करता है और शुद्ध गुण प्रदर्शित करता है। यह आंतों के पेरिस्टाल्टिक मूवमेंट को बढ़ाता है और इस तरह बाउअल मूवमेंट (आंत्र आंदोलन) को गति देता है।

नासोतर

यह जड़ी बूटी वात और पित्त दोषों को संतुलित करने के लिए जानी जाती है। यह एक रेचक के रूप में कार्य करती है और कब्ज से तुरंत राहत प्रदान करती है।

हिमज

इसे बाल हरड या काली हरड के नाम से भी जाना जाता है। हिमज कड़े मल को नरम बनाकर उसे आसानी से शरीर से बाहर निकालने में कारगर है।

सिंधलन

इसे सेंधा नमक या पहाड़ी नमक के रूप में भी जाना जाता है। यह मल को नरम करने में सहायक है और उसके आसानी से पारित होने में मदद करता है।

सुंठ

दरअसल सूखे अदरक के स्वरूप में पाई जानेवाली शक्तिशाली जड़ी-बूटी छाती और गैस्ट्रिक पीड़ा से छुटकारा दिलाने में बहुत कारगर है। यह पाचन को सुधारती है और वजन के प्रबंधन में सहायता करती है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “पाइल्स पैक”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shop By Category