Sale!

गैसोहर्ब पैक ऑफ 2 (पाचन और गैस के लिए)

300.00 270.00

गैस से राहत

गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक औषधियों का उपयोग:

गैस की समस्याओं का इलाज करने में सहायक

मात्रा: 30 गोलियां x 2

खुराक : 15 साल से अधिक उम्र के लोगों लिए दोपहर और रात के भोजन के बाद 1 गोली दिन में दो बार। 10-15 साल की उम्र के लोगों के लिए इसकी आधी खुराक।

गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए आयुर्वेदिक औषधि गैसोहर्ब का परिचय:

ऐसा कहा जाता है, अच्छा भोजन अच्छे मूड के बराबर होता है। और हम सभी को इस आनंद को प्रकट करना चाहिए। जैसा कि हम सभी जानते हैं इस मामले में आयुर्वेदिक औषधि गैसोहर्ब से बेहतर कुछ भी नहीं है, जो आपको किसी भी तरह की गैस्ट्रिक परेशानियों की चिंता किए बिना हर भोजन का स्वाद लेने में मदद कर सकती है!

Clear
SKU: N/A Category:

गैसोहर्ब गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए एक आयुऑफर्वेदिक औषधि है, जो अतिरिक्त पाचन गैस को निष्कासित करने में मदद करती है, जिससे आपको इस तरह की गैस के चलते होनेवाले किसी भी दर्द या जलन से राहत मिलती है। बच्चों और वयस्कों दोनों की जरूरतों को पूरा करने के अनुरूप तैयार, गैसोहर्ब गैस और पेट फूलने की अनचाही समस्या से तत्काल राहत प्रदान करती है। इस औषधि में प्रयुक्त सोंठ, बोडीअजमा और चावक जैसे कुछ बेहद विश्वसनीय तत्वों के चलते यह औषधि न केवल पाचन में सुधार करने में मदद करती है बल्कि नियमित आंत्र आंदोलनों में भी सहायता करती है।

हालांकि यह सिफारिश की जाती है कि आप इस दवा का कम से कम एक महीने का कोर्स पूरा करें, लेकिन आपको इस समस्या के हमले को रोकने के लिए आयुर्वेद के कुछ नियमों का भी पालन करना होगा। उदाहरण के लिए, जहां तक संभव हो, आपको ताजा और गर्म खाना खाने की कोशिश करनी चाहिए। आपको जितना आवश्यक हो उतना ही खाना चाहिए, भोजन अच्छी तरह चबाते हुए धीरे-धीरे करना चाहिए।

नोट : हम इन उत्पादों का उपयोग करने से पहले किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक के साथ परामर्श कर लेने की सलाह देते हैं, क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति और शरीर अनूठा होता है। हमारे आंतरिक चिकित्सक से नि: शुल्क परामर्श के लिए कृपया हमें +919820291850 पर कॉल करें या हमें care@drvaidyas.com पर ईमेल करें।

Pack Size

1, 2, 3, 4

10-15 वर्ष की आयु के लोगों के लिए — दोपहर और रात के भोजन के बाद आधी गोली

15 वर्ष और उससे अधिक आयु के लोगों के लिए — दोपहर और रात के भोजन के बाद 1गोली

अनुशंसित कोर्स — कम से कम 1 महीना

गैस्ट्रिक समस्याओं के लिए अत्यंत प्रभावशाली आयुर्वेदिक औषधि गैसोहर्ब में निम्नलिखित घटक शामिल हैं —

सुंठ

सुंठ या सोंठ वास्तव में सूखे अदरक का स्वरूप हैं, यह छाती के दर्द और गैस्ट्रिक पीड़ा को दूर करने में कारगर एक प्रभावशाली जड़ी-बूटी है। सोंठ को पाचन को सुधारने और वजन प्रबंधन में सहायता प्रदान करनेवाली जड़ी-बूटी के रूप में जाना जाता है।

काली मिर्च

दुनिया भर में रसोई में सहज उपलब्ध काली मिर्च पाचन में सुधार करती है और गैस्ट्रिक परेशानियों का इलाज करती है।

पेपरिमूल

एक अति आवश्यक  जड़ी-बूटी के रूप में पेपरिमूल पाचन को तेज करता है, जबकि शरीर के चयापचय में भी सुधार करता है।

बोडीअजमा

इसे अजवाइन के रूप में भी जाना जाता है। बोडीअजमा से गैस पर नियंत्रण, पेट फूलने, उल्टी और आंतों के परजीवी की रोकथाम जैसे विभिन्न पाचन संबंधी लाभ होते हैं।

चावक

यह जड़ी-बूटी पाचन रोगों को ठीक करने, भूख बढ़ाने और पेट के कृमि (कीड़े) को नष्ट करने के लिए जानी जाती है।

सज्जीखार

यह भूख को उत्तेजित करने के लिए जाना जाता है। यह सीने की जलन (हार्टबर्न) को रोकने में मदद करता है, पेट की गैस और पेट फूलने की परेशानी को कम करता है।

समर नमक

यह गैस और पेट फूलने जैसे पाचन विकार सहित विभिन्न बीमारियों के इलाज में मदद करता है।

सैटिरिक एसिड

यह आमतौर पर मसालेदार, नमकीन और तैलीय खाद्य पदार्थों के सेवन के चलते होनेवाली अम्लता (एसिडिटी) और सीने की जलन (हार्टबर्न) से राहत प्रदान करता है।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “गैसोहर्ब पैक ऑफ 2 (पाचन और गैस के लिए)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shop By Category